• मणिपुर हिंसा: परतों के भीतर कितनी परतें होती हैं?

    Author(s):
    Pramod Ranjan (see profile)
    Date:
    2023
    Group(s):
    Communication Studies, Cultural Studies, Feminist Humanities, Literary Journalism, Religious Studies
    Subject(s):
    Mythology, Meithei, Civil war, Armed Forces--Indian troops, India--Churāchāndpur (District)
    Item Type:
    Article
    Tag(s):
    Women's Market, Women's Market, Ima Market, 2023 Manipur violence Incident, north-eastern state, Metei Tribe, Kuki tribe
    Permanent URL:
    https://doi.org/10.17613/rpgd-7745
    Abstract:
    यह मणिपुर में 2023 में हुई हिंसा पर केंद्रित प्रमोद रंजन के रिपोर्ताजों का पहला भाग है। प्रमोद रंजन इसमें पूर्वोत्तर भारत के इतिहास, संस्कृति और समाज में आ रहे परिवर्तनों को चिन्हित किया है तथा उसका संवेदनशील, मर्मस्पर्शी और विचारोत्तेजक चित्र प्रस्तुत किया है। उन्होंने इस रिपोर्ताज में यह भी बताया है कि हिंसा के दौरान मैतेई महिलाओं के संगठन मैरा पाइबी की भूमिका अत्यंत प्रतिक्रियावादी रही थी।
    Notes:
    इस रिपोर्ताज के कई भाग हैं। उन्हें भी इस रिपोजेटरी पर पोस्ट किया गया है।
    Metadata:
    Published as:
    Online publication    
    Status:
    Published
    Last Updated:
    6 months ago
    License:
    Attribution-NonCommercial

    Downloads

    Item Name: pdf manipur-violence-how-many-layers-within-layers.pdf
      Download View in browser
    Activity: Downloads: 18